तस्वीर

तस्वीर खींची लम्हों को कैद कर,
खुशी के लम्हों को कैद की यादों में,
जब देखूं आँखों में चमक आ जाये,
गम वाले लम्हों को भी कैद की यादों में,
जब देखूं आँखों में अश्क आये पर वो,
गलतियों का आईना हो . . .

छाया

%d bloggers like this: