खत

अहसासों का आईना,
शब्दरूप में रखा गया हो,
एक कहानी जिसे लिखते हुये,
अश्रु नीर बन बहे होंगे मन तड़पा होगा,
कई सवाल उठे होंगे जबाव का इंतजार होगा,
एक बूँद अश्रु कागज पर गिरा होगा शायद वो भी,
खत के साथ एक संदेश ले गया होगा लिफाफे में बन्द . . .

छाया

%d bloggers like this: