परछाई

मैं तो परछाई हूँ,
हमेशा साथ तुम्हारी छाया,
हरपल रहती तुम्हारे साथ-साथ,
तुम्हारी परछाई ने मेरे दिल में घर बनाया,
सुंदर सा घर जब मन हो आ जाना मिलने . . .

छाया

%d bloggers like this: