चाकलेट

जिन्दगी चाकलेट है,
मीठा महसूस करेंगे,
तो मीठी लगती है,
मन की भावनाओं से,
इसकी मिठास घटती – बढ़ती है . . .

छाया

%d bloggers like this: