वसंत

तुम आते तो,
तुम संग बसंत आती,
कोयल की कुहू तान,
सरसों के पीले-पीले फूल,
आम्रमंजर की मीठी सुगंध,
उस पर मोहित भौंरा,
पुरवा बयार आती बगिया में,
हर पुष्प पर प्रेम बरसाती,
तुम आते तो तुम संग बसंत आती . . .

छाया

%d bloggers like this: