कविता

कविता एक फूल हैं,
शब्दों की पंखुरीयों से बना फूल,
कविता रूपी फूल को देख खुश होते हैं,
फूल की खुशबू हम कविता में महसूस करते हैं,
शब्दों से उसमे रंग भरते हैं जिसे पढ़ तरोताजा होते हैं . . .

छाया

%d bloggers like this: