गले आ लगूंगी

खफा – खफा रहूंगी,
फिर भी गले आ लगूंगी,
नही देखना चाहती तुम्हें,
पर कभी मिले तो गले आ लगूंगी,
नही सुनना मुझे आवाज़ तुम्हारी,
पर कभी सुनाई दे तो ढ़ूंढ़ तुम्हें गले आ लगूंगी . . .

छाया

%d bloggers like this: