शांति की ओर

शांति की ओर मन को रखे,
तो सब अच्छा होता प्रतीत होगा,
तटिनी का शांत प्रवाह मन को मोह लेता है,
सिंधु ऊँचे उठते लहरों से मन अशांत करती है . . .

छाया

%d bloggers like this: