कागज की नाव

कागज की नाव की तरह,
पानी में जाते ही अस्तित्व खोने से,
डर जाते है तो शायद हम डरपोक हैं,
अगर हम नाव को लोहे का मान ले,
तो हर पल डर को जीत सकते हैं और,
अपने अस्तित्व को बचा सकते हैं . . .

छाया

One thought on “कागज की नाव

  1. चेतना गिरती है
    सपने में
    लकड़ी के कटोरे में
    एक नाव के रूप में
    तेज लहरों के साथ
    सपने देखने वाले के आसपास

    जब आत्मा चाहती है
    उन्हें दंडित करें
    अभिमानी
    कि वह इससे एक सबक लेता है
    दिन की शुरुआत नई अंतर्दृष्टि के साथ

    *

    chetana giratee hai
    sapane mein
    lakadee ke katore mein
    ek naav ke roop mein
    tej laharon ke saath
    sapane dekhane vaale ke aasapaas

    jab aatma chaahatee hai
    unhen dandit karen
    abhimaanee
    ki vah isase ek sabak leta hai
    din kee shuruaat naee antardrshti ke saath

    Liked by 1 व्यक्ति

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: